August 22, 2017

परनम आंखों के साथ शेख अल हदीस मौलाना मोहम्मद यूनुस सुपुर्दे खाक, अनुमान के अनुसार दस लाख लोगों ने भाग लिया अंतिम संस्कार में

सहारनपुर/शम्स तबरेज कासमी :जामिया मुजाहिरूल उलूम सहारनपुर शेख अल हदीस हज़रत मौलाना मोहम्मद यूनुस साहब का अंतिम संस्कार आज बाद नमाज़ अस्र प्रक्रिया में आया.नमाज़ अंतिम संस्कार इमामत हज़रत मौलाना शेख ज़कारिया कांधलवी के बेटे तलहा साहब ने दिया .महता् अनुमान के अनुसार अंतिम संस्कार में लगभग दस लाख से अधिक लोगों शरीक थे।
मौलाना शेख मोहम्मद यूनुस साहब पिछले 57 वर्षों से जामिया मजहरुल उलूम सहारनपुर में शिक्षण कर्तव्यों का पालन कर रहे थे .शियख ज़कारिया साहब के निधन के बाद शेख अल हदीस पद आप पद ग्रहण किया और बुखारी के शिक्षक के रूप में दुनिया भर में आप एक प्रमुख स्थान प्राप्त था .शियख ज़कारिया कांधलवी अल आप ज्ञान उत्तराधिकारी और विशेष शिष्य होने के साथ आप उन्हें से बैअत भी थे।
शेख मौलाना मोहम्मद यूनुस साहब का संबंध उत्तर प्रदेश के जिला बिजनौर था .1355 में पैदा हुए प्रारंभिक से लेकर अरबी पंचम तक कि शिक्षा आप अपने दयार में प्राप्त। इसके मौलाना जिया देर सलाह सहारनपुर आए जहां से आपने 1380 में फ़राग़त प्राप्त और फिर यहीं से 1381 हिजरी में बतौर शिक्षक बहाल कर लिए गए।
शेख मौलाना मोहम्मद यूनुस जौनपुर नोराललह मरकदा ने शादी नहीं की थी अपने पूरे ध्यान ज्ञान हदीस प्रसारण कॉपीराइट और बुखारी पढ़ाते हुए गुज़री है .आप जामिया घटना अध्ययन के ही एक कमरे में रहते रहे जबकि अपना पूरा पूरा परिवार जौनपुर में था। आज सुबह सुबह के बाद कुछ परेशानी हुई .ासातज़ह सहारनपुर मीडिया अस्पताल में ले गए और वहीं 9 बजे आत्मा क़फ़स तत्व उड़ान गयी।
मौलाना अंतिम संस्कार सोमवार तलहा साहब ने पढ़ाई और हाजी शाह कमाल कब्रिस्तान में दफन प्रक्रिया में आई .महता् अनुमान के अनुसार अंतिम संस्कार में लगभग दस लाख से अधिक लोगों शरीक थे

Related posts