पत्नी के सभी जेवर पर कब्जा करके फरार होने के बाद पति ने फोन करके दिया:तीन तलाक,गुलनाज़ ने वीडियो जारी करके न्याय की गुहार लगाई

1 सितंबर, 2018:शादी के बाद मेरा पति अवैध गतिविधियों में शामिल हो गया था, अजनबी लड़कियों के साथ इसके संबंधों गए थे, तान्त्रिक और झाड़ फूंक के नाम पर गलत काम करता था.जब में उसे मना करती तो मुंह में कपड़ा डाल बुरी तरह मेरी पिटाई करता और कहता के तुम कौन होती हो मुझे मना करने वाली: गुलनाज बेगम

दीनाजपुर (मिल्लत टाइम्स, मुनव्वर आलम)
पश्चिम बंगाल के दिनाजपुर में तीन तलाक का एक और शर्मनाक घटना सामने आया जिसमें पति ने पहले पत्नी के सभी आभूषण और सामान जमीन खरीदने के बहाने अपने कब्जे में किया और कल होकर फोन पर कहा कि मैं तुम्हें तीन तलाक दे रहा हूं, तुम्हें जो कुछ करना है कर लो.मिल्लत टाइम्स के सूत्रों के मुताबिक पश्चिम बंगाल के जिला दीनाजपूर में चौकोलिया थाना के दक्खिन डुमरिया गाँव की लड़की गुलनाज बेगम के साथ यह घटना पेश आया है जिसकी शादी 2007 में उमर फ़ारूक़ नाम के एक व्यक्ति के साथ हुई थी और दोनों के दो बच्चे भी हैं .गुलनाज़ बेगम ने मिल्लत टाइम्स से बात करते हुए कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि उस व्यक्ति कि इस तीन तलाक देने से मुझे जल्लाद पति से छुटकारा मिल गया है और अब मुझे हिंसा का सामना नहीं करना पड़ेगा लेकिन सवाल यह है कि इस व्यक्ति को उसके भयानक अपराध, मुझ पर किए गए अत्याचार और मेरे आभूषण पर कब्जा करने की सजा कब और कैसे मिलेगी .गुलनाज़ ने कहा कि पश्चिम बंगाल की पुलिस एफआईआर दर्ज करने के बावजूद कार्यवाही में टालमटोल कर रही है और मेरे मामले को वह गंभीरता से नहीं ले रही है। कभी पुलिस कहती है कि फोन पर दी गई तलाक तलाक नहीं होता , तो वही किसी के दबाव के कारण कोई कारवाई नहीं कर रही है। गुलनाज बेगम ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें उन्होंने अपनी दर्दनाक कहानी का वर्णन किया। गुलनाज ने वीडियो में कहा।

पश्चिम बंगाल के उत्तर दीनाजपुर जिले में चाकोलिया थाने के दक्खिन डोमरिया गांव मे मेरा घर है 2007 में इसी जिले में सीसा वारी शाहपुर गांव, ग्वाल पोखर थाना के निवासी उमर फारूक नाम के व्यक्ति से मेरी शादी हुई थी .उमर फारूक और उसके पिता उस्मान अली पंजाब में रहते है.शादी के समय इन लोगों ने बताया कि पंजाब में मेडिकल स्टोर है.जब मेरे भाई लोग वहाँ जांच करने पहुंचे तो उन्हें एक बड़ी सी मेडिकल स्टोर दिखाई गई, एक दो लोगों ने इसकी पुष्टि भी की लेकिन जब मैं शादी के बाद वहाँ पहुंची तो न कोई मेडिकल स्टोर था और न ही कोई अच्छी वहाँ छवि थी, पता चला कि मेरे अभिभावक को शादी के दौरान झूठ बोलागया .मेरे पति का धंधा दो नम्बर का था, वह नशीली दवाएं बेचता था, फारूक बाबा के नाम से वह प्रसिद्ध है, महिलाओं को धोखा देना उसका पेशा था .बच्चा पैदा होने और ताबीज एवं तांत्रिक नाम पर बड़ी-बड़ी राशि लेता था.में उसे इससे रोकती थी और कहती थी कि यह अच्छा काम नहीं है खुदा के लिये उसे छोड़ दो। कभी कभी वे अनजान लड़कियों को घर पर लेकर आजाता था जिसके खिलाफ आवाज उठाती तो वह मुझे मारताथा मेरे ऊपर अत्याचार करता था, दीवार और खिड़की बंद करके, मेरे मुंह में कपड़ा डाल कर‌ मारता था और बोलता था के तुम कौन होती हो मुझे समझाने वाली, मेरे इस बीच में बोलने वाली अपनी औकात मे रहो .कभी बोलता के बिजली का करंट लगाकर मार दुंगा और किसी को पता भी नहीं चल पाएगा।

मेरी शिकायत पर दसियों बार पंचायत बैठी हर बार वह पंच के सामने माफी मांग लेता और कहता आगे से ऐसा नहीं करूंगा , कई साल बीत गए इसलिए मैंने भी रिश्ता बाकी रखने की कोशिश की, घर वालों ने खुला लेने के लिए कहा लेकीन मेंने कहा कि हम किसी तरह गुज़ार लेंगे लेकिन वह बंदा अत्याचार करता रहा, पिछले तीन महीने से लगातार एक लड़की को पंजाब में मेरे घर पर लाता था .बकरा ईद से दो दिन पहले मुझे वह बंगाल लेकर आया और मायके छोड़ कर अपने गांव चला गया .परसों 28 अगस्त को रात नो बजे वह घर पर आया और कहा कि मुझे कुछ ज़मीन ख़रीद नी है इसलिए आप अपने सारे आभूषण मुझे दे दो, उसे गिरवी रखना है, मैं सारे आभूषण दे दिए, ससुराल में रखे बक्स की चाभी उसने ले ली, मोबाइल भी ले लिया और कहा कि दो दिन बाद आऊँगा तो दे दूंगा .मेरा एक बैग था वह भी ले लिया और तभी रात में कहा तुम भी मेरे साथ चलो, देर रात होने की वजह से मना कर दिया और कहा कि सुबह चलेंगे, अब उचित नहीं है, बच्चे भी साथ हैं तब वह गुस्सा हो गया और उसी समय बड़े बेटे फरहान को लेकर चला गया, उसकी उम्र 9 वर्ष है। कल होकर दिन मे उसने मेरी छोटी बहन के मोबाइल पर फोन करके मुझसे बात करके गालियां दी ओऔर कहा के मैं तुम्हें तीन तलाक दे रहा हूँ , जो कुछ करना है कर लो। फिर वाट्स ऐप एप्लिकेशन पे उसने रिकाडिंग करके मेरी बहन, भाई और सबको भेजा कि मैं गुलनाज को तलाक दे दिया है और मेरे खिलाफ जो कुछ करना है कर लो।

उस व्यक्ति ने मेरी पूरी ज़िन्दगी बर्बाद कर दि है, मुझ पर ज़ुल्म और अत्याचार किया है और अब मेरा पूरा आभूषण और पैसे लेकर मुझे तलाक दे दिया .मेरे पास अब कुछ बचा नहीं है। मैं अपने लोगों और समाज के लोगों से अनुरोध करती हुं कि मुझे न्याय दिया जाना चाहिए। ऐसे गलत व्यक्ति को दंड दिया जाए। मैं बहुत मजबूर होकर आपको अपनी आपबीती सुना रही हूं। खुदा के लिए मेरी सहायता किजिए।
मिल्लत टाइम्स ने इस बारे में पति उमर फ़ारूक़ से संपर्क करके पुष्टि करनी चाही तो उन्होंने कहा कि हाँ हमने तलाक दे दिया है कारण बताने से इनकार करते हुए उसने फोन काट दिया .गुलनाज़ बेगम का भाई मखदुम मुल्क ग़ौरी ने भी मिल्लत टाइम्स को बताया के इन के बहनोई उमर फ़ारूक़ ने उनके पास एक ऑडियो भेजा है जिसमें कह रहे हैं कि हां हमने गुलनाज को तीन तलाक दे दिया है आप लोगों को जो कुछ करना है कर लो।