SDPI के प्रतिनिधिमंडल का शीतला कॉलोनी गुरुग्राम हरियाणा का दौरा,प्रशासन व हिन्दूवादी संगठनों की मिलीभगत से मस्जिद को सील किया गया- SDPI

नई दिल्ली: 27 सितम्बर 2018 – सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इन्डिया (SDPI) के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य एवं दिल्ली प्रदेश के संयोजक डा निजामुद्दीन खान के नेतृत्व में पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने 26 सितम्बर 2018 को शीतला कॉलोनी गुरुग्राम हरियाणा का दौरा किया जहां विगत दिनों स्थानीय प्रशासन द्वारा हिन्दूवादी संगठनों की शिकायत पर एक मस्जिद को सील कर दिये जाने का मामला सामने आया है! प्रतिनिधिमंडल ने वहां के स्थानीय निवासी पप्पू भाई, आनन्द, शमीम खान, शमशाद आदि से मुलाकात करके मामले की वास्तविकता की जानकारी ली जिसमें यह पता चला कि शीतला कॉलोनी में कुल 30 – 35 मुस्लिम परिवार आबाद हैं बाकी सब दूसरे साम्प्रदाय के लोग हैं जो आपस में बहुत ही प्रेम भाव से रह रहे थे चार साल पहले कॉलोनी के मुसलमानो ने आपस मे चंदा करके मस्जिद बनाने के लिए जमीन खरीद कर, जिसकी रजिस्ट्री नौशाद के नाम से है, उस पर तीन मंजिला भवन निर्माण करके मदीना मस्जिद की स्थापना की और उस मे नमाज अदा करने लगे जिस पर किसी को कोई आपत्ति नही थी मस्जिद मे लाउडस्पीकर से अज़ान होती थी, कुछ दिनो पहले वी पी सिंह और नौशाद के बीच किसी बात को लेकर आपस मे रंजिश हो गई जिसके चलते वी पी सिंह और प्रमोद गुप्ता ने नौशाद को नीचा दिखाने और साम्प्रदायिक उन्माद भडकाने के उद्देश से कट्टरपन्थी हिन्दुत्ववादी संगठनों का साथ लेकर मास्जिद के मामले को लेकर प्रशासन से शिकायत की कि मस्जिद का निर्माण गैर कानूनी है और स्थानीय लोगों को भडकाया, शीतला कॉलोनी गुरुग्राम, एयरफोर्स की बाउंडरी के नज़दीक है जिसके चलते वहा नगर निगम की ओर से किसी भी प्रकार के भवन निर्माण की अनुमति नही है जिसका सहारा लेकर स्थानी प्रशासन ने भाजपा विधायक, हरियाणा सरकार हिन्दुत्ववादी संगठनों के दबाव में मस्जिद को सील कर दिया है जबकि एयरफोर्स की बाउंडरी के नज़दीक और बहुत सारे मक़ान हैं मंदिर भी है मस्जिद के पास चर्च भी है लेकिन प्रशासन द्वारा मस्जिद को अनाधिकृत बताकर सील किया गया है!

यहाँ यह सवाल खड़ा होता है कि अगर मस्जिद अवैध थी तो तमाम घर कैसे वैध हो गए, मंदिर और चर्च के खिलाफ कोई कार्यवाही क्यों नहीं हुई अगर यह इलाका संवेदनशील है तो एयरफोर्स एरिया की बाउंडरी से नजदीक जो घर बने है वो मात्र 10 मीटर से शुरू होते हैं पहले उन पर कार्यवाही होनी चाहिए मंदिर की दूरी 50 मीटर है और मस्जिद की दूरी बाउंडरी से 100 मीटर है!
स्थानीय निवासी पप्पू भाई और आनन्द ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि बताया कि मन्दिर और मस्जिद मे लगे माइक के तेज़ आवाज़ के आपसी कम्पटीशन के चलते यह विवाद इतना आगे बढ़ा है, जिसकी वजह से यहा के लोगों का आपसी भाई चारा भी खात्म हो गया नौशाद और शमीम खान ने प्रतिनिधिमंडल को बताया कि कॉलोनी मे बाहरी लोगो जिनका सम्बन्ध कट्टरपन्थी संगठनों से है, की गतिविधियां बढ़ गई हैं कॉलोनी में रह रहे मुस्लिम समुदाय के लोगों को डराया और धमकाया भी जा रहा है, आर एस एस और उस से सम्बद्ध संगठनों ने वहां के माहौल को खराब किया है अभी भी वह लोग झुंड बना कर कॉलोनी में आते हैं और मुसलमानों के घरों के सामने आपत्तिजनक नारेबाज़ी करते हैं तथा वीडियो बनाते हैं!

प्रतिनिधिमंडल ने शीतला कॉलोनी के राहिवासियो से आपसी प्रेम भाव व भाई चारा बनाये रखने और मस्जिद के विवाद को खुले मन से आपसी सहमति से मिल बैठकर हल करने की अपील की जिसका दोनों साम्प्रदाय के लोगों ने स्वागत किया!
प्रतिनिधिमंडल में डा. निजामुद्दीन खान के साथ पापुलर फ्रंट आफ इन्डिया दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष परवेज अहमद, डा. आई. ए. खान और भीम आर्मी दिल्ली प्रदेश के अध्यक्ष डी. सी कपिल आदि भी शामिल थे!