25 हजार फीट से बिना पैराशूट के रिकॉर्ड छलांग

नई दिल्ली/लॉस एंजिलिस,
मिल्लत टाइम्स/हिंदुस्तान
०१/०८ २०१६

अमेरिकी स्काई डाइवर ल्यूक एकिंस ने 25 हजार फीट की ऊंचाई से बिना पैराशूट के छलांग लगाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है। कैलिफोर्निया की सिमी घाटी में शनिवार को उन्होंने यह कारनामा किया। 25 हजार फीट की ऊंचाई पर हवाई जहाज से बाहें फहलाये ल्यूक दो मिनट के भीतर जमीन से 200 पीट ऊपर बंधे जाल पर आकर गिरे। ल्यूक ने 18000 फीट पर पहुंचकर ऑक्सीजन मास्क भी हटा दिया था। इस कारनामे को फॉक्स टीवी पर ‘हेवन सेंट’ कार्यक्रम में लाइव दिखाया गया।

242 किलोमीटर की रफ्तार से गिरे
ल्यूक 242 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से जमीन से ऊपर बंधे जाल पर गिरे। सुरक्षा नजरिये से गिरने के कुछ सेकंड पहले ल्यूक पलटते हुए पीठ के बल जाल पर पहुंचे।

तकनीक से लैस था जाल
ल्यूक की छलांग को सुरक्षित और सफल बनाने में तकनीक का बड़ा हाथ हैं। जमीन पर लगाये गए जाल में विशेष लाइट सिस्टम लगा था। जिसकी मदद से ल्यूक जाल का सही अंदाजा लगा पाये। जाल के दायरे में आने पर ल्यूक को इसका रंग हरा दिखता, जबकि इसके दायरे से बाहर होने पर यह लाल रंग का दिखता। यही नहीं ल्यूक के हेलमेट में एक खास सेंसर लगा था जो जाल के करीब आते ही जोर से कंपन करने लगता।

दो साल की मेहनत
ल्यूक इस कारनामे के लिए दो साल से अभ्यास कर रहे थे। उनकी पूरी टीम इस अनोखे कीर्तिमान को कायम करने के लिए लगातार मेहनत करती रही।

पत्नी-बेटे के साथ मनाया जश्न
ल्यूक ने जमीन पर पहुंचते ही पत्नी मोनिका को गले लगा लिया। बेटे लोगान को गोद में उठाकर जश्न मनाया। ल्यूक ने कहा इनके विश्वास से ही यह कारनामा पूरा हो सका।

मां ने नहीं देखा नजारा
ल्यूक का यह कारनामा देखने हजारों लोग जुटे लेकिन उनकी मां इस मौके पर मौजूद नहीं थीं। उन्हें बाद में ल्यूक के सफल होने की खबर दी गई। उनकी मां बेटे की सफलता के लिए कामना कर रहीं थीं।

18000 छलांग लगा चुके
ल्यूक ने 12 साल की उम्र में पहली बार छलांग लगाई थी। अब तक 18 हजार छलांग लगा चुके ल्यूक अपने परिवार की तीसरी पीढ़ी हैं जो इस क्षेत्र में हैं। उनकी पत्नी भी 2000 बार छलांग लगा चुकी हैं।

‘आयरनमैन-3’ में स्टंट किये
मशहूर हॉलीवुड फिल्म ‘आयरनमैन 3’ में ल्यूक ने स्टंट किये हैं। जिन्हें बहुत पसंद किया गया था। ल्यूक कैलिफोर्निया में अमेरिकी नौ सेना और वायुसेना के जाबांजों को स्काई डाविंग भी सिखाते हैं।

कोट:
‘हवा में बिना पैराशूट के तैरना अद्भुत था, इस अनुभव को शब्दों में बयां करना नामुमकिन है। मैनें पहले भी कई बार छलांग लगाई लेकिन यह जीवन का सबसे यादगार क्षण है। प्रशंसकों और साथियों के विश्वास से ही यह संभव हुआ। -ल्यूक एकिंस

Comments: 0

Your email address will not be published. Required fields are marked with *