प्याम-ए-सिदरा के प्रबंध सम्पादक अहमद अली सिद्दीक़ी ने आयकर के संयुक्त-आयुक्त के साथ मुलाकात कर महत्त्वपूर्ण मुद्दों पर विचार-विमर्श की।

  पटना(प्रेस विज्ञप्ति)
मासिक प्याम-ए-सिदरा के प्रबंध सम्पादक अहमद अली सिद्दीक़ी ने आज पटना में आयकर के संयुक्त आयुक्त रामबाबू गुप्ता से मुलाकात कर कई महत्त्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हेतु विशेष बैठक की।जिसमे केवल मुस्लिम समाज के ग़रीब और निम्न वर्गों के शिक्षा पर विचार विमर्श किया गया।
               इस दौरान रामबाबू गुप्ता ने कहा कि “क़ुरआन शरीफ” की पहली आयत नाज़िल की गई,वह शिक्षा पर आधारित है।लेकिन फिर भी मुसलमान शिक्षा के क्षेत्र में सबसे पीछे नज़र आते हैं।अगर कोई व्यक्ति यह कहता है कि उच्च शिक्षा प्राप्त करने में मुसलमानों के साथ भेदभाव बरता जा रहा है,तो ये सिर्फ एक विकृत सोच और नासमझी है।साथ ही ज़िम्मेदारी से भागने के मुतरादिफ है।
                  उन्होंने कहा कि हर वो समाज जो शिक्षा के क्षेत्र में पीछे रह गए है या आर्थिक स्थिति से कमज़ोर हैं,ऐसे लोगों के लिए हमारा संगठन *एक्लव्या सुपर फिफ्टी* निःशुल्क कोचिंग देकर आई आई टी،सिविल सेवा और मेडिकल जैसे महत्त्वपूर्ण परीक्षाओं के लिए तैयारी करवाती है,और बच्चों में सलाहियत पैदा कर उनको आगे बढ़ाती है।
               उन्होंने कहा कि ऐसे गरीब और साधनहीन छात्र जो अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने के इच्छुक हो,मगर आर्थिक स्थिति सुदृढ़ नहीं रहने के कारण आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं।हम ऐसे छात्र /छात्राओं को हर संभव सहायता प्रदान कराएंगे और उनको शिक्षा के क्षेत्र में आगे तक ले जाने में सभी तरह की आर्थिक मदद भी करेंगे।ताकि वो अपनी शिक्षा पूर्ण कर सके।
          उन्होंने अहमद अली जी को कहा के आप भी अपने क्षेत्र में साधनहीन छात्रों का मार्गदर्शन करते रहें और हमारी परिक्षाओं में सम्मिलित करवाएं।प्रतियोगी परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद हमारी संस्था उनकी शिक्षा का पूरा खर्च वहन करेगा।