मेवात क्षेत्र में औलावृष्टि से नष्ट हुई फसलें

मेवात क्षेत्र में औलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का जल्द पूर्ण मुआवजा दे सरकार: इनेलो विधायक ज़ाकिर हुसैन 

  6 मार्च सोमवार से शुरू हो रहे विधानसभा-सत्र में वे इस मुद्दे को जोर शोर से उठाएँगे: इनेलो विधायक 

       सुफ़यान सैफ 
              रविवार दोपहर को मेवात क्षेत्र में हल्की बारिश के साथ जबरदस्त औलावृष्टि हुई जिसके कारण मेवात क्षेत्र के कई गाँवों की कई सौ एकड़ भूमि में खड़ी फसलें पूरी तरह से नष्ट हो गई हैं। नूँह जिले के खेड़ला नूँह, मेवली, कोटला, बाई, बड़ोजी,  शेखपुर, मौहम्मदपुर,  आकेड़ा, मालब, दिहाना, बीरसीका, ऊँटका, मुरादबास, छावा, निजामपुर  आदि कई दर्जन गाँवों की फसलें औलावृष्टि से पूरी तरह नष्ट हो गई हैं। इन गाँवों के लोगों के चेहरों पर भारी मायूसी है। लोगों का कहना है कि इतने दिन से मेहनत कर अपने परिवार के पालन पोषण के लिए फसलों का इंतजार कर रहे थे लेकिन भारी औलावृष्टि ने सारी फसलें पूरी तरह से बर्बाद कर दी हैं। अब उन्हें चिंता है कि उनके परिवार का पालन-पोषण कैसे संभव होगा।
नूँह से इनेलो विधायक ने कहा कि भारी औलावृष्टि के कारण किसानों की फसलें पूरी तरह से नष्ट हो गई हैं। नूँह जिले के कई दर्जन गाँवों में रविवार को भारी औलावृष्टि हुई है। लोग रात-दिन मेहनत कर अपनी फसलों को उगा रहे थे। लेकिन कुदरत के कहर ने रविवार को उन्हें पूरी तरह से नष्ट कर दिया। इनेलो विधायक ने सरकार से माँग की है कि औलावृष्टि से नष्ट हुई फसलों का शीघ्र पूर्ण मुआवजा दिया जाए, जिससे किसान अपने परिवार का पालन-पोषण कर सकें। उन्होंने कहा कि सोमवार आज से विधानसभा सत्र शुरू हो रहा है। वे विधानसभा सत्र में खेलरत्न चौ0 अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में इस मुद्दे को जोर शोर से सरकार के समक्ष रखेंगे।