कन्हैया पर लगातार जारी हमला भाजपा-आरएसएस की बौखलाहट का परिणाम, कन्हैया को सख्त सुरक्षा प्रदान करे केन्द्र व राज्य सरकार:रामनरेश पांडेय

मिल्लत टाइम्स, पटना,। जनशक्ति परिसर में आयोजित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के प्रेस वार्ता में मौजूद भाकपा के राष्ट्रीय कार्यकारणी एवं बिहार राज्य सचिवमंडल सदस्य काॅमरेड रामनरेष पांडेय और बिहार राज्य सचिवमंडल सदस्य काॅमरेड जब्बार आलम ने आज कहा कि छात्र नेता जे0एन0यू0एस0यू0 के पूर्व अघ्यक्ष कन्हैया कुमार पर लगातार दो दिनों से जारी हमला कन्हैया कुमार को मिल रहे अपार जन समर्थन से बौखलायें भाजपा-आरएसएस की बौखलाहट का परिणाम है। ऐसी घटनाएं कन्हैया कुमाार के जीवन पर खतरा पैदा करती है, इसलिए हम केन्द्र एवं राज्य सरकार से अविलम्ब उन्हें कड़ी सुरक्षा प्रदान करने की मांग करते हैं।

ज्ञात हो कि कल दिनांक 16 अक्टूबर को मंसूरचक बेगुसराय से भाकपा के आहूत 25 अक्टूबर की ‘‘भाजपा हराओं देश बचाओं’’ रैली की तैयारी सभा को संबोधित कर लौट रहे थे। उसी क्रम में भगवानपुर में एक शिक्षक श्री मधुसूदन कुशवाहा से मिलने गए। तभी भाजपा युवा मोर्चा एवं बजरंग दल के गुण्डों ने लोहे के रड, लाठी, डंडों से उसके काफिलें पर जानलेवा हमला किया। जिसमें काॅमरेड संभु देवा एवं राकेश कुमार घायल हो गए एवं छह गाड़ियाॅं क्षतिग्रस्त हो गई।
ऐसे ही दो दिनपूर्व एम्स पटना में उन्हे देशद्रोही कह कर अपने एक मरीज साथी से मिलने में रोका गया और भजपा समर्थित डाक्टरों ने उनपर झूठा मुकदमा दर्ज किया

। भाजपा नेता एवं बिहार सरकार के मंत्री मंगल पांडे ने उन्हे उपद्रवी कहा और कहा था कि ‘‘बिहार जेएनयू नही है’’। नेता द्वय ने कहा कि कन्हैया कुमार पर हमलें ऐसे ही सोच एवं उकसावे का परिणाम है। जबसे कन्हैया कुमार ‘‘भाजपा हराओं देष बचाओं’’ रैली की तैयारी में विभिन्न स्थानों की जनसभाओं को संबोधित कर रहें हैं, तब से उन्हे धमकियों एवं हमलों का शिकार बनाया जा रहा है। भाजपा-आरएसएस के इतिहास एवं व्यवहार से उनके धमकियों को हल्के में नही लिया जा सकता है, इसलिए राज्य एवं केन्द्र सरकार को उन्हें सख्त सुरक्षा प्रदान करना चाहिए और उनपर दर्ज झूठे मुकदमें वापस लेने चाहिए।
प्रेस वार्ता में उपरोक्त नेताओं के अलावा राज्य कार्यकारणी सदस्य विश्वजीत कुमार एवं राज्य परिशद सदस्य रंजीत पंडित मौजूद थे।