राजीव गांधी को 72वें जन्मदिवस पर देश ने याद किया

नई दिल्ली
मिल्लत टाइम्स/आउटलुक
२०/०८ २०१६
“राष्ट्र ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनके 72वें जन्मदिवस के मौके पर आज स्मरण किया। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और अन्य नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की, जबकि सोनिया गांधी स्वास्थ्य कारणों से श्रंद्धाजलि अर्पित करने नहीं पहुंच सकीं।”

राजीव गांधी की 72वीं जयंती पर उनके पुत्र और कांग्रेस पार्टी के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने वीरभूमि स्थित उनकी समाधि पर उन्हें पुष्पांजलि दी। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी (डीपीसीसी) के अध्यक्ष अजय माकन, पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा, मोतीलाल वोरा और भूपिन्द्र सिंह हुड्डा ने भी राजीव गांधी की समाधि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनकी 72वीं जयंती पर याद करते हुए ट्वीट में कहा, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी को उनकी जयंती पर याद करता हूं। सोनिया गांधी बीमार चल रही हैं और उन्हें उपचार के बाद कल ही सर गंगा राम अस्पताल से छुट्टी दी गई है। इस वजह से वह वीरभूमि नहीं पहुंच सकीं। राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, आज राजीव गांधी का स्मरण किया। उनके विचार, उनके मूल्य और लोगों के प्रति उनकी गहरी प्रतिबद्धता सदैव हमारी प्रेरणा बनी रहेगी।

राजीव गांधी को देश में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी क्रांति का जनक कहा जाता है। राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त 1944 को हुआ था। उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में 1984 से 1989 तक देश की सेवा की। एलटीटीई ने तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में 21 मई 1991 को एक चुनावी रैली के दौरान उनकी हत्या कर दी थी। आज उनकी जयंती के मौके पर राहुल गांधी ने शारीरिक रूप से अक्षम व्यक्तियों को 100 दोपहिया वाहन भी प्रदान किए। इनमें से ज्यादातर लोग 20 से 30 साल की आयु वर्ग के थे। उन्होंने उनकी भलाई और भविष्य की योजनाओं के बारे में पूछ-ताछ की। बातचीत के दौरान राहुल ने उनमें से कई व्यक्तियों की प्रभावशाली शैक्षिक योग्यता के लिए उन्हें बधाई भी दी और शारीरिक चुनौतियों के बावजूद उनके अदम्य साहस की सराहना की। उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी फाउंडेशन प्रति वर्ष राजीव गांधी एक्सेस टु अपोर्चूनिटीज कार्यक्रम के तहत शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को इसी प्रकार से सम्मानित करता है। राहुल इस फाउंडेशन के ट्रस्टी हैं।
Comments: 1