MLC खालिद अनवर ने सीतामढ़ी के 80 वर्षीय जैनुल को ज़िंदा जलाए जाने को बताया अफवाह

बिहार,मिल्लत टाइम्स :-

राजनीति में कोई राज धर्म नहीं होता है। और इसी बात को सिद्ध किया है बिहार के JDU MLC खालिद अनवर ने। दीन बचाओ, देश बचाओ कार्यक्रम से सीधे MLC बनने वाले खालिद अनवर को सत्ता का सुख भाने लगा है। ऐसा इसलिए कह रहे हैं कि खुद को JDU का बड़ा मुस्लिम चेहरा बताने वाले खालिद अनवर ने 20 अक्टूबर को सीतामढ़ी के 80 वर्षीय जैनुल की हत्या को अफवाह बताया है। वही उनका यह भी कहना है कि 19/20 अक्टूबर को वहाँ कोई दंगा ही नहीं हुआ था बल्कि हल्की सी झड़प हुई थी जिसे पुलिस ने नियंत्रण में कर लिया। उन्होंने Millat Times से बात करते हुए कहा कि जैनुल की हत्या करने और जलाए जाने की ख़बर अफवाह है। उन्हें कत्ल नहीं किया गया बल्कि सड़क दुर्घटना में मौत हो गई जिसके बाद जलाने की कोशिश की गई लेकिन पुलिस ने ऐसा नहीं होने दिया। और जलाए जाने की जो ख़बर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है वह कहीं और कि है।

वहीं दूसरी तरफ सीतामढ़ी के SP विकास वर्मा ने Millat Times से 30 अक्टूबर को बात करते हुए कहा कि जैनुल अंसारी को राजुपट्टी से लौटते समय एक भीड़ ने हत्या कर जलाने की कोशिश की थी। और SP विकास वर्मा के हवाले से ही यह ख़बर प्रसिद्ध न्यूज़ पोर्टल The quint ने भी प्रकाशित किया है।

इमारते शरिया जिसने बिहार में दीन बचाओं देश बचाओं कार्यक्रम आयोजित किया था। और उसी दिन इस कार्यक्रम में अहम भूमिका निभाने वाले खालिद अनवर को JDU ने अपना MLC उम्मीदवार घोषित कर दिया। जिसके बाद यह कहा जाने लगा कि खालिद अनवर का इमारते शरिया के अमीर मौलाना वली रहमानी से अच्छे संबंध है। उसी इमारते शरिया के नायब नाज़िम मौलाना मुफ़्ती सनाउल्होदा की क़यादत में एक टीम ने दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौड़ा किया। पटना वापस लौटने के बाद मौलाना मुफ़्ती सनाउल्होदा ने बताया कि जैनुल अंसारी के जिंदा जलाए जाने की ख़बर सच है।

MLC खालिद अनवर के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर यूज़र्स ने इन्हें अड़े हाथों ले लिया है। अधिकतरों का कहना है कि इस घटना को अफवाह बता कर खालिद अनवर खुद को नीतीश कुमार का करीबी बनाए रखना चाहते है। वही एक ने लिखा है कि दीन बचाओं देश बचाओं के सदके में MLC बने खालिद अनवर अब नीतीश कुमार को बचाने में लगे है।