अयोध्या धर्मसभा:पीएसी के साथ केंद्रीय बलों की तैनाती,आपात स्थितियों के लिए एटीएस के कमांडो भी लगाए गए

मिल्लत टाइम्स, लखनऊ: अयोध्या में विश्व हिन्दू परिषद और शिवसेना के आयोजनों को देखते हुए शांति व कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए व्यापक सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। 24 व 25 नवंबर को पूरी अयोध्या छावनी में तब्दील रहेगी। इसके लिए पुलिस व पीएसी के अलावा केंद्रीय बलों की तैनाती भी की गई है। आपात स्थितियों से निपटने के लिए एटीएस के कमांडो भी वहां मौजूद रहेंगे।

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि अयोध्या में जिले की फोर्स के अलावा एक एडीजी, एक डीआईजी, तीन एसपी, 10 एएसपी, 21 डीएसपी, 160 इंस्पेक्टर, 700 कांस्टेबल, 42 कंपनी पीएसी व 5 कंपनी आरएएफ के अलावा एटीएस के कमांडो भी तैनात किए गए हैं। कानून-व्यवस्था की दृष्टि से निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे भी लगाए गए हैं। अयोध्या के सर्वाधिक संवेदनशील अधिग्रहीत परिसर वाले क्षेत्र में सुरक्षा प्रबंधों की निगरानी में एडीजी व डीआईजी स्तर के अधिकारी लगाए गए हैं। पूरी सुरक्षा व्यवस्था सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों के अनुसार की गई है, ताकि शांति बनी रहे और ट्रैफिक नियंत्रित रहे।

डीजीपी ने कहा कि 24 नवंबर को शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के दो कार्यक्रमों और 25 नवंबर को रामलला के दर्शन के कार्यक्रम की सूचना है। इसी तरह 25 नवंबर को विहिप की धर्मसभा है। धर्मसभा में संभावित भीड़ को देखते हुए सभी जरूरी इंतजाम किए गए हैं। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी हालात पर नजर बनाए हुए हैं। एडीजी लखनऊ जोन राजीव कृष्ण को पूरी व्यवस्था का पर्यवेक्षण करने की जिम्मेदारी दी गई है। वह जिले व रेंज के पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर संवेदनशील स्थानों को चिह्नित करते हुए वहां फोर्स की तैनाती कराएंगे।