अयोध्या की फ़िज़ा गर्म,डरे सहमे है लोग,घर मे कर रहे है राशन जमा

शबनवाज अहमद: 2014 के चुनाव में देश में मोदी सरकार राम जन्मभूमि को मुद्दा बनाकर सत्ता में आई थी लेकिन धीरे-धीरे समय बीत गया और मोदी सरकार का 5 साल लगभग पूरा होने वाला है ऐसे में राम मंदिर का निर्माण न होने से तमाम राजनीतिक दल जो भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी रहे और कई संगठनो ने महंतों ने भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

विश्व हिन्दू परिषद(विहिप) और शिवसेना के अयोध्या में कार्यक्रमों को लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस ने विवादित रामजन्म भूमि परिसर तथा इसके आसपास की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। जहां राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के समर्थन से विहिप ने 25 नवंबर को अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर निर्माण के लिए एक कानून बनाने की मांग को लेकर धर्मसभा आयोजित करने की घोषणा की है। वहीं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे 24 नवंबर से दो दिन के लिए अयोध्या का दौरा करेंगे।

घरों में राशन जमा करने लगे लोग
विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा को लेकर जिस तरह से तैयारियां चल रही हैं, उसे लेकर माना जा रहा है कि 25 नवंबर को अयोध्या की फिजां बेहद गर्म होने वाली है। इसके चलते राज्य के स्थानीय लोगों ने घरों में राशन-पानी का सामान जमा करना शुरू कर दिया है। हिंदू और मुस्लिम परिवारों को राज्य में तनाव और हालात बिगड़ने की आशंका है।

अयोध्या में बढ़ी सरगर्मी
जहां विहिप के इस कार्यक्रम के लिए आरएसएस ने भी पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं शिवसेनी भी पूरे जोश में है। अचानक अयोध्या में बढ़ रही सरगर्मी को देखते हुए प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से लेकर गृह विभाग के अधिकारी सुरक्षा की तैयारियों में जुट गए हैं। विहिप ने दावा किया है कि साधु-संतों समेत एक लाख से अधिक लोग ‘धर्मसभा’ में भाग लेंगे। महाराष्ट्र से आए 5,000 से अधिक लोगों के शिवसेना प्रमुख के साथ अयोध्या में आने की उम्मीद है। समारोह परिक्रमा मार्ग पर स्थित बड़ा भक्त महल की बगिया मैदान पर आयोजित किया जाएगा। हांलाकि शिवसेना ने कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं रखा है। उद्धव ठाकरे संतों से मुलाकात करेंगे, सरयू आरती में भाग लेंगे और दो दिनों के दौरान विवादित स्थल जाकर रामलला का दर्शन करेंगे।

सुरक्षा व्यवस्था कड़ी
उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करने और कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए अयोध्या में आतंकवाद विरोधी दल, अर्ध सैनिक बल, आरएएफ तथा अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की है। भीड़ पर निगरानी करने के लिए ड्रोन कैमरे लगाए गए हैं।
(शबनवाज अहमद)