बिहार में डॉन के लिए जगह नहीं : नीतीश

मिल्लत टाइम्स/हिंदुस्तान
पटना।
२७/०९/२०१६

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में डॉन के लिए जगह नहीं है। यहां कोई डॉन दिखेगा तो वह अंदर जाएगा, बाहर नहीं रहेगा। इतना मैं उद्यमियों और सबको आश्वस्त करता हूं। मुख्यमंत्री सोमवार को बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (बीआईए) के 72वें वार्षिक समारोह में बोल रहे थे।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि बिहार में डॉन जैसी कोई बात है नहीं। पर, होगा तो अंदर जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार विकास के रास्ते पर अग्रसर है। लेकिन बिहार जैसे पिछड़े राज्यों को केंद्र सरकार का सहयोग आवश्यक है। समावेशी नीति जब तक केंद्र की नहीं होगी, देश का विकास तेज नहीं होगा। आज क्या कारण है कि देश का आर्थिक ग्रोथ कभी ऊपर जाता है तो कभी नीचे लुढ़क जाता है। उसका एक मात्र कारण है कि देश का विकास चंद विकसित राज्यों पर निर्भर है। बिहार जैसे राज्यों पर निर्भर नहीं है। इसलिए हम बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं। इसका परिणाम एक दिन किसी न किसी रूप में जरूर आएगा।

केन्द्र का सहयोग चाहिए

आज बिहार की आबादी देश का 8.3 फीसदी है, पर देश के जीडीपी में हमारा योगदान मात्र 3.1 फीसदी है। हम क्यों नहीं आबादी केअनुरूप योगदान करेंगे। यह सिर्फ हमारी औद्योगित नीति से नहीं होगा। हमें इसके लिए केंद्र का सहयोग चाहिए।

उद्यमी पंचायत अगले महीने

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार उद्यमी पंचायत के वार्षिक समारोह में कहा कि अगले माह उद्यमी पंचायत होगी। इसमें उद्योमियों की समस्याएं सुनी जाएंगी। पिछली पंचायतों पर क्या कार्रवाई हुई, इसकी रिपोर्ट भी पेश होगी। उन्होंने साफ कहा कि सरकार बीआईए और चैंबर ऑफ कॉमर्स दो ही एजेंसी के माध्यम से उद्यमियों की बात सुनेगी।

स्टार्टअप नीति में सिड-बी से करार

स्टार्टअप नीति के तहत जल्द ही सिडबी के साथ करार होगा। इस नीति के तहत युवा उद्यमियों के चयन की प्रक्रिया बिल्कुल पारदर्शी होगी। 500 करोड़ का वेंचर कैपिटल फंड बना है। जल्द ही युवा उद्यमियों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने उम्मीद जतायी कि जीएसटी काउंसिल केंद्र और राज्य के बीच टैक्स बंटवारे के अनुपात और तरीके पर उचित फैसला लेगा।

सात निश्चय को पूरा करने पर हम तुले हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के सात निश्चय कार्यक्रम को पूरा करने में हम तुले हैं। इसको लेकर हम मेहनत कर रहे हैं। दो अक्टूबर को युवाओं के विकास को लेकर कई योजनाओं की शुरुआत कर रहे हैं। स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड के तहत चार लाख तक लोन विद्यार्थियों को मिलेंगे। स्वयं सहायता भत्ता बेरोजगार युवकों को मिलेगा। मौके पर उद्योग मंत्री जय कुमार सिंह, बीआईए अध्यक्ष रामलाल खेतान समेत, संजय गोयनका, एकेपी सिन्हा, चैंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष ओपी साह आदि भी उपस्थित थे।

चार उद्यमी सम्मानित हुए

उद्योग के विकास में बेहतर योगदान के लिए चार उद्यमियों को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। लुंबिनी विबरेजेज लि. के चरण कुमार खिलानी को एसपी जैन मेमोरियल आवार्ड 2016, केपीएस केशरी को डीपी साबू मेमोरियल आवार्ड 2016, पतवारी स्टील्स लि. के सुभाष कुमार पतवारी को एसआर रूंगटा मेमोरियल अवार्ड 2016 और गोल्डेन डेयरी प्रोडक्ट्स लि. के बीएल तहलानी को बीपी गुप्ता मेमोरियल अवार्ड 2016 पुरस्कार मिला।