गोलाबारी की आड़ में आतंकियों की घुसपैठ कराना चाहता है पाक

सेना ने पिछले 36 घंटे में सीमा पार से घुसपैठ की तीन कोशिशों को नाकाम किया है। इन आतंकियों को पाकिस्तानी रेंजर्स कवर फायरिंग कर मदद पहुंचा रहे हैं। बीएसएफ के अनुसार पिछले 12 दिन में जम्मू क्षेत्र में छह बार घुसपैठ की कोशिश की जा चुकी है।

पाक की ओर से गोलीबारी में सेना का जवान शहीद, दो महिलाएं घायल

बीएसएफ के उपमहानिरीक्षक धमेंद्र पारिक ने बताया कि जवानों ने अपनी जान पर खेलकर आतंकियों की कोशिशों को विफल कर दिया। कठुआ के हीरानगर सेक्टर में शनिवार और रविवार को पाकिस्तानी रेंजर्स की गोलाबारी की आड़ में घुसपैठ की कोशिशें की गईं। पाकिस्तान अशांति पैदा करने और आतंरिक इलाकों मंे सुरक्षा बलों को हताहत करने के नापाक इरादे से हथियारों से लैस आतंकवादियों को भारत में भेजने की लगातार कोशिश कर रहा है।

PAK ने दिवाली पर भी तोड़ा सीजफायर, BSF ने दिया मुंहतोड़ जवाब

धमेंद्र पारिक ने बताया कि 29 अक्तूबर को हीरानगर सेक्टर से हथियारों से लैस तीन आतंकवादियों के दल ने घुसपैठ की कोशिश की और पाकिस्तानी रेंजर्स ने उन्हें कवरिंग फायर दिया। मगर चौकस बीएसएफ कर्मियों ने प्रभावी जवाबी कार्रवाई से उन्हंे पीछे हटने के लिए बाध्य कर दिया।

उन्होंने कहा कि 30 अक्तूबर की आधी रात को एक बार फिर हीरानगर के दूसरे सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर चौकस कर्मियों को फिर हथियारों से लैस तीन आतंकवादी नजर आए। ये डैड ग्राउंड (जहां गोलीबारी या गोलाबारी से निशाना नहीं बनाया जा सके) का फायदा उठाकर अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास पहुंच गए। उन पर नजर रखी गई। बीएसएफ की प्रभावी गोलीबारी के बाद इन आतंकवादी घने जंगलों में छिप गए। बाद में भी बीएसएफ कर्मियों ने इलाके पर नजर बनाए रखी और इन आतंकवादियों की कोशिश नाकाम कर दी। source:-Hindustan